‘‘बालिकाओं ने बनाया दीवार अखबार ’’ - Apni Maati: News Portal

Breaking

Home Top Ad

Post Top Ad

गुरुवार, अक्तूबर 11, 2012

‘‘बालिकाओं ने बनाया दीवार अखबार ’’


सलूम्बर

लेखन कार्यशाला के चैथे दिन बालिकाओं ने दीवार अखबार बनाया। बसंती कुमारी मीणा , नेहा जैन, दीपाली सुथार तथा  भाविका  आदि बालिकाओं  द्वारा तैयार दीवार अखबार परिवार समाचार पत्र, सुथारवाड़ी समाचार पत्र, सुथारवाड़ी पत्रिका, दीवार भास्कर, डाल चैराहा समाचारपत्र, दुदर पत्रिका का लोकार्पण भी किया।  दीवार अखबार  में बच्चों ने कार्यशाला की रिर्पोट एवं स्थानीय समाचार लिखे। बालप्रहरी के संपादक उदय किरौला ने संपादकीय  में आने वाली विषय बस्तु से बालिकाओं का अवगत कराया। उनके साथ बालिकाओं ने  पुस्तकों के मुखपृष्ठ बनाना सीखा। 

बच्चों को आज चित्रकला का प्रशिक्षण दिया गया। जोधपुर से आए चित्रकार केशव वरनोती ने बालिकाओं को चित्रकला के विभिन्न पक्षों की जानकारी दी। तथा  चित्रकला में रंगों के संयोजन का अभ्यास कराया। विज्ञान से हुआ मनुष्य जीवन आसान नामक विषय पर चित्र बनवाए  जिसमें बच्चों ने मोबाइल, बिजली, वाहन, हैंडपंप आदि के जीवन सुगम होने के पैंसिल चित्र बनाए। पंूजीलाल वरनोती तथा चंद्रप्रकाश मंत्री ने निबंध रचना सिखाई। मधु माहेश्वरी, उषा कचैरिया, शशिकला जैन, कौशल्या ने बैच बनाने का प्रशिक्षण दिया।

डा. बिमला  भंडारी ने सलूम्बर का इतिहास और भूगोल की जानकारी देते हुए मेवाड़ का  प्राचीन इतिहास एवं हाड़ीरानी की गौरव गाथा सुनाई।  डा श्रीकृष्ण जुगनू ने इस क्षेत्र में 99 नाले पानी के बहने के साथ इस क्षेत्र का प्राचीन नाम हरभर की व्याख्या की। रतनलाल चैबीसा ने रैन बरसता छमाछम गीत पर बच्चों से नृत्य करवाया  तथा राजेन्द्र प्रसाद शर्मा ने मेरी छत पर मोर आया गीत का अभ्यास कराया। 

आज सम्पन्न हुई कार्यशाला में मेवाड़ी भाषा की प्रतियोगिता हुई जिसमें शोभना प्रजापति , सलोनी सोनी, आयुषि भंडारी एवं सोनी गुजराती को पुरस्कार में पुस्तकें दी गई ।कार्यशाला का समापन समारोह कल 2 बजे दोपहर में होगा। जिसमें बालिकाओं की काव्य गोष्ठी होगी तथा बच्चों द्वारा तैयार हस्तलिखित पुस्तकों की प्रदर्शनी लगेगी तथा तथा हस्तलिखित पत्रिका सलूम्बर दर्पण का लोकार्पण किया जायेगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

पेज