''कहन शैली के अनूठे कवि थे भवानी प्रसाद मिश्र''-अशोक वाजपेयी - Apni Maati: News Portal

Breaking

Home Top Ad

Post Top Ad

मंगलवार, मई 08, 2012

''कहन शैली के अनूठे कवि थे भवानी प्रसाद मिश्र''-अशोक वाजपेयी

4 मई, 2012
आकाशवाणी दिल्‍ली केन्‍द्र द्वारा कविवर भवानी प्रसाद मिश्र जन्‍मशती समारोह का आयोजन शुक्रवार सायं 7 बजे गुलमोहर सभागार, इंडिया हेबीटेट सेंटर, लोधी रोड, नई दिल्‍ली में किया गया। इस कार्यक्रम के मुख्‍य अतिथि वरिष्‍ठ कवि एवं आलोचक अशोक वाजपेयी थे एवं अध्‍यक्षता वरिष्‍ठ कवि केदारनाथ सिंह ने की। मुख्‍य वक्‍ता के रूप  में विजय बहादुर सिंह भोपाल से आमंत्रित थे। कार्यक्रम का शुभारंभ भवानी प्रसाद मिश्र की कुछ प्रतिनिधि और लोकप्रिय कविताओं के वाचन से हुआ। कार्यक्रम में उपस्थित भवानी प्रसाद मिश्र के सुपुत्र सुप्रसिद्ध पर्यावरणविद अनुपम मिश्र ने अपने पिता के जीवन के कुछ यादगार पलों को उपस्थित दर्शकों के साथ बांटते हुए उनकी सादगी और सहजता को रेखांकित किया। 

मुख्‍य वक्‍ता विजय बहादुर सिंह ने कविवर भवानी प्रसाद मिश्र के काव्‍य लेखन की बारीकियों को विस्‍तार से समझाया और कई कविताओं  को अंतरंग संस्‍मरणों के साथ उद्धृत भी किया। प्रख्‍यात कवि अशोक वाजपेयी ने अपने वक्‍तव्‍य मे कहा कि वे कहन शैली के अनूठे कवि थे और उन्‍होंने लिखित एवं वाचिक की दूरी को मिटाया। मिश्र से जुडे अपने युवा काल के संस्मरणों  को भी उन्होंने दर्शकों से बांटा। वरिष्‍ठ कवि केदारनाथ सिंह ने अपने गुरू आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी दृवारा श्री भवानी प्रसाद मिश्र पर लिखी गई एक कविता का वाचन किया और कहा कि ऐसा सम्‍मान शायद ही किसी को मिला हो। उन्‍होंने यह भी कहा कि मिश्र की कविताएं जनमानस से जितनी जुडती हैं,तुलसीदास जी के बाद शायद ही किसी कवि की कविताएं जुडी हों। यही कारण रहा होगा कि वे भवानी भाई के नाम से प्रसिद्ध हो गये। सभागार में भवानी प्रसाद मिश्र के निकटतम परिजन एवं जाने-माने पत्रकार एवं मीडियाकर्मी उपस्थित थे। उल्‍लेखनीय है कि श्री भवानी प्रसाद मिश्र जन्‍मशती समारोहों के क्रम में यह आयोजन सबसे पहले आयोजित होने वाले कार्यक्रम में से था और इसका श्रेय आकाशवाणी को जाता है।

योगदानकर्ता / रचनाकार का परिचय :-
तीर्थंकर महावीर विश्वविद्यालय,
मुरदाबाद में सहायक प्रोफ़ेसर
संपर्क सूत्र-
abnishsinghchauhan@gmail.com
SocialTwist Tell-a-Friend

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

पेज