मुंगेर:नक्सलियों के समर्पण के मायने - Apni Maati: News Portal

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

शनिवार, मई 12, 2012

मुंगेर:नक्सलियों के समर्पण के मायने


25 नक्सलियों ने किया आत्म समर्पण  

मुंगेर
धरहरा प्रखंड के महगामा ग्राम पंचायत के लरैयाटांड़ गांव में एक महती सभा में भागलपुर प्रक्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक ए.के.अंबेदकर, मुंगेर प्रमंडल के आयुक्त एस.एम.राजू, मुंगेर प्रक्षेत्र के पुलिस उपमहानिरीक्षक अनिल किशोर यादव, जिला पदाधिकारी कुलदीप नारायण एवं पुलिस अधीक्षक पी.कन्नन के समक्ष 25 नक्सलवादियों ने आज आत्मसमर्पण किया। इन नक्सलवादियों में एक एरिया कमांडर एवं एक महिला सम्मिलित थे। पदाधिकारियों के समक्ष इन उग्रवादियों ने शपथपूर्वक संकल्प लिया कि वे समाज की मुख्य धारा के अंग बनकर रहेंगे और भारत के संविधान के अनुरूप आचरण करेंगे।

समर्पण के अवसर पर आयोजित सभा को संबोधित करने के क्रम में क्षेत्र की समस्याओं की चर्चा करते हुए भागलपुर प्रक्षेत्र के आरक्षी महानिरीक्षक अंबेदकर ने कहा कि इस समर्पण से इस क्षेत्र की सूरत बदलेगी, खुषहाली आएगी और योजनाओं का कार्यान्वयन कर विकास की गति तेज होगी। उन्होंने इस क्षेत्र से अपने व्यक्तिगत लगाव की चर्चा करते हुए कहा कि इस क्षेत्र का विकास होने से उन्हें बेहद खुषी होगी। उन्होंने सरकार की पुर्नवास नीति के अंतर्गत दी जाने वाली सुविधाओं का लाभ उन्हें यथाषीघ्र दिलाने का आष्वासन दिया। 

मुंगेर प्रमंडल के आयुक्त एस.एम.राजू ने क्षेत्र की विस्तृत विकास की चर्चा की और कहा कि सरकार की योजनाओं का लाभ यथाषीघ्र इस क्षेत्र के लोगों तक पहंुचाया जाएगा और महिलाओं का समूह बनाकर इस क्षेत्र का विकास किया जाएगा। उन्होंने इंदिरा आवास का कलस्टर बनाकर योजनाओं के समेकित लाभ दिए जाने की चर्चा की और कहा कि आपसे परामर्ष कर योजनाओं का लाभ आप तक पहुँचाया जाएगा ताकि आपका सर्वांगीण विकास किया जा सके। आयुक्त ने मनरेगा योजनाओं के अंतर्गत वृक्षारोपण पर जोर दिया और कहा कि 100 दिन की मजदूरी हर व्यक्ति को दिया जाएगा और बेरोजगारों को बेरोजगारी भत्ता  भी मिलेगा। उन्होंने अगले माह पुनः इस स्थान पर बैठक कर क्षेत्र के लोगों को दी जाने वाली विकास योजनाओं की समीक्षा करने का भी आष्वासन दिया।

मुंगेर प्रक्षेत्र के पुलिस उप महानिरीक्षक अनिल किषोर यादव ने समर्पण करने वालों को बधाई दी और कानून की ष्षरण में आने के लिए समर्पणकारियों को धन्यवाद दिया। उन्होंने क्षेत्र के समग्र विकास के लिए हर संभव प्रयास करने की बात कही और कहा कि इसके लिए आप सबों का सहयोग भी जरूरी है। श्री यादव ने स्थानीय लोगों के साथ समर्पण में सहयोग करने वाले पुलिस अधीक्षक तथा अन्य पुलिस पदाधिकारियों को भी धन्यवाद दिया और कहा कि पुलिस को सहयोग करें ताकि आपको ष्षंतिपूर्ण जीवन प्रदान किया जा सके। उन्होंने यह भी कहा कि हत्या समस्या का समाधान नहीं है। इससे मानवता कलंकित होती है। समर्पण करने वाले लोगों ने कानून में आस्था व्यक्त की है। अतः उन्हें विधि सम्मत सुविधा मिलेगी, यह बताते हुए डीआईजी ने कहा कि बिना भेदभाव के उनके साथ न्याय किया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि जो समर्पण नहीं किए हैं वे भी समर्पण कर सकते हैं, उनके प्रति भी पुलिस कानून सम्मत सहयोग करेगी। आईजी ने लोगों को सर्तक रहने का संकेत देते हुए कहा कि उग्रवादी कोई दूसरी कार्रवाई नहीं करें इसके लिए सजग एवं तत्पर रहने की भी जरूरत है। 

जिला पदाधिकारी कुलदीप नारायण ने आत्म समर्पण कर मुख्य धारा में रहने वाले लोगों के बारे में कहा कि सही काम करना ही मुख्य धारा है। कोई किसी को परेषान न करे और सब का हित सब मिल कर सोंचे यही हमारी संस्कृति भी है। उन्होंने कहा कि सरकार ने पंचायत द्वारा हमारी रोजमर्रा की जिंदगी को सुविधा देने के लिए कई योजनाएं तैयार की हैं और अब पंचायत द्वारा ही ग्रामीण विकास का निर्धारण होता है। नरेगा, इंदिरा आवास, स्कूल, सिंचाई, पेयजल आदि अन्य विकास योजनाओं का निर्धारण पंचायत स्तर पर हीं कर लिया जाना है। अतः इस क्षेत्र के विकास की संभावनाओं के द्वार अब खुल जाएंगे। अतिवादियों द्वारा विकास कार्य में बाधा पहंुचाए जाने के कारण क्षेत्र का विकास नहीं हो पा रहा था और योजनाएं जैसी चलनी चाहिए थीं वैसी नहीं चल पा रही। उन्होंने यह भी कहा कि सड़क निर्माण के कई योजनाओं के टेंडर भी कोई लेने को तैयार नहीं होते थे जिसके कारण विकास का कार्य गति नहीं पकड़ पा रहा था। उन्होंने उम्मीद जाहिर की कि अब इस क्षेत्र का समेकित विकास होगा और विकास की किरण आमलोगों तक पहंुचेगी। 

एकीकृत कार्य योजना के अंतर्गत तथा आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम के द्वारा इस क्षेत्र के विकास पर बड़ी राषि खर्च की जाएगी और जमीन मिलने पर सिंचाई संबंधित परेषानियों से भी आपको मुक्त कराया जाएगा। उन्होंने विकास के लिए ष्षांति की आवष्यकता बतायी और लोगों से आवाह्न किया कि आप अपनी षिकायत हमें करें, हम उसका निदान करेंगे।जिलाधिकारी ने कहा कि क्षेत्र को भयमुक्त कर विकास की योजनाओं को कार्यान्वित कराया जाएगा और आम लोग इसका लाभ उठा पाएंगे। अन्य उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र के लोगों को भी इस क्षेत्र का अनुषरण कर विकास की मुख्य धारा से जुड़ने का आवाह्न किया। पुलिस अधीक्षक पी.कन्नन ने धन्यवाद ज्ञापन करते हुए समर्पण करने वाले नक्सलियों को कानून सम्मत हर सुविधा मुहैया करने का आष्वासन दिया और मुख्य धारा में जुड़कर षांतिपूर्ण जीवन व्यतीत करने के उनके निर्णय की सराहना की। 

समर्पण करने वाले नक्सलवादियों में भीम यादव, महेष यादव, कोपल यादव, सुरेंद्र यादव, धर्मजीत यादव, विमेष यादव, षिवदानी यादव, गणेष यादव, भोला यादव, पंकज यादव, मनोज साव, चरित्र साव, पागो यादव, सुबुक यादव, संजय यादव, अर्जुन यादव, मैनी देवी, भागो कोड़ा, महेषी यादव, अधिक यादव, रामषरण यादव, अनिल सोरेन, अनिल मंडल, युगेष्वर कोड़ा तथा देवन यादव थे, जिसमें युगेष्वर कोड़ा क्षेत्र के एरिया कमांडर रहे हैं। इस अवसर पर पूर्व मुखिया अनिल यादव ने एक हवन का आयोजन भी किया जिसमें पुलिस महानिरीक्षक एवं पुलिस अधीक्षक ने हवन कर दुश्प्रवृतियों की आहूति देकर उनके जीवन में खुषहाली लाने की ईष्वर से प्रार्थना की।     


योगदानकर्ता / रचनाकार का परिचय :-


कुमार कृष्णन
स्वतंत्र पत्रकार
 द्वारा श्री आनंद, सहायक निदेशक,
 सूचना एवं जनसंपर्क विभाग झारखंड
 सूचना भवन , मेयर्स रोड, रांची
kkrishnanang@gmail.com 
मो - 09304706646
SocialTwist Tell-a-Friend

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

पेज