‎'समावर्तन'का नया अंक 'एकाग्र' मैथिलीशरण गुप्त पर - Apni Maati: News Portal

Breaking

Home Top Ad

Post Top Ad

बुधवार, दिसंबर 14, 2011

‎'समावर्तन'का नया अंक 'एकाग्र' मैथिलीशरण गुप्त पर


'समावर्तन'का नया अंक! 'एकाग्र' में स्मृतिशेष मैथिलीशरण गुप्त पर सामग्री! गुप्तजी पर अज्ञेय, प्रभाकर श्रोत्रिय और रमेश दवे के आलेख! 'रेखांकित' में महेशचंद्र पुनेठा की कविताएँ! 'रंगशीर्ष" में गोकुलोत्सव जी के कला-कर्म पर सामग्री! रवीन्द्र स्वप्निल प्रजापति की कहानी, राजकुमार कुम्भज, दुष्यंत तिवारी, सुभाष गौतम की कविताएँ! अक्षय आमेरिया के चित्रों पर निवेदिता वर्मा! युवा कवियों के स्तंभ 'रेखांकित' पर डॉ. नामवर सिंह, सुशील सिद्धार्थ, ओम नारायण और अंजन कुमार की सम्मतियाँ! व्यंग्य चौमासा 'वक्रोक्ति' में पठनीय व्यंग्य! साथ में सभी स्थाई स्तंभ! पत्रिका मंगाने के लिए लिखें- 'समावर्तन', 129, माधवी,दशहरा मैदान, उज्जैन 456 010 (.प्र.) दूरभाष: (0734) 2520263. एक प्रति 25/- वार्षिक 250/-

स्त्रोत:-निरंजन श्रोत्रिय जी 

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

पेज