प्रेस विज्ञप्ति: दर्शकों में खूब छाया रहा पुरुलिया छाऊ लोक नृत्य - Apni Maati: News Portal

Breaking

Home Top Ad

Post Top Ad

शुक्रवार, अक्तूबर 02, 2015

प्रेस विज्ञप्ति: दर्शकों में खूब छाया रहा पुरुलिया छाऊ लोक नृत्य

प्रेस विज्ञप्ति 
दर्शकों में खूब छाया रहा पुरुलिया छाऊ लोक नृत्य
लोक संस्कृति की छटा निराली
स्पिक मैके की विरासत श्रृंखला

चित्तौड़गढ़ 1 अक्टूबर  2015

चित्तौड़गढ़ में गुरुवार की सुबह सेंथी स्थित सेंट्रल एकेडमी स्कूल में सात सौ दर्शकों ने हमारी भारतीय लोक विरासत के सतरंगी लोक नृत्य पुरुलिया छाऊ को बहुत नजदीक से अनुभव किया। बुराई और दुष्ट मानसिकता के लोगों का हमेशा नाश ही होता है जैसे विचार को फिर पुष्ट करती प्रस्तुति स्पिक मैके द्वारा अपनी विरासत श्रृंखला के तहत आयोजित की गयी।महिषासुरमर्दिनी जैसी लोकप्रिय कथा पर केन्द्रित नृत्य नाटिका का प्रदर्शन दर्शकों को झकजोर गया।एक तो कलाकारों की युद्ध केन्द्रित मार्शल आर्ट का अद्भुत कौशल छाया रहा और वहीं एकदम अलग पहनावा एवं मुखौटेदार चेहरों ने दर्शकों का खूब मन रिझाया।दर्शकों ने इस आयोजन के बहाने मोर,शेर और बैल जैसे वन्य जीवों को साकार करती प्रस्तुति पर कई बार तालियाँ बजाकर अपनी अभिव्यिक्ति दी।बच्चे डरे भी,हँसे भी और कई बार आश्चर्यचकित भी हुए। सबसे रोमांचित करने वाला दृश्य राक्षस महिषासुर का वध करती देवी दुर्गा का रहा। नृत्य दल के निर्देशक तारापद रजक ने कहा भी कि कुलमिलाकर हमारी लोक विरासत में सैकड़ों रंग है और ज़रूरत हमें सिर्फ इसे ठीक से महसूस करने की है। पश्चिमी बंगाल के पुरुलिया जिले में ऐसे हजारों कलाकार हैं और कई दल हैं जो अखाड़े के रूप में काम करते हैं।दिनभर खेती किसाने के बाद रातभर नृत्य और मनोरंजन के लिए अखाड़ों में प्रतियोगिता होती है।अधिकाँश युवा कलाकार हैं और ये हमारे संस्कृति के विभिन्न आख्यानों को पेश करते रहते हैं।

स्कूल प्राचार्य अश्लेश दशोरा,स्पिक मैके के स्कूल समन्वयक परेश नागर,विजन कॉलेज निदेशक डॉ.साधना मंडलोई ने आयोजन की शुरुआत में कलाकारों का स्वागत, दीप प्रज्ज्वलन किया।मंच संचालन छात्रा प्राची और सलोनी के साथ स्पिक मैके सह सचिव पूर्णिमा मेहता ने किया।इस मौके पर आन्दोलन के सभी साथियों का सम्मान भी किया गया जिनमें सहसचिव शाबाज पठान,चित्तौड़ कॉलेज निदेशक विनय शर्मा,महेंद्र नंदकिशोर,आदित्य शामिल थे।अंत में राज्य सचिव अनिरुद्ध ने छात्रों के साथ स्थापित संवाद में हमारी भारतीय संस्कृति को तरजीह देने के विचार को पुष्ट किया।

इससे पहले इम्पीरियल क्लब और एक्जेक्युटिव के सहयोग से बुधवार रात आठ बजे जिंक नगर में भी एक आयोजन  हुआ जिसमें इन्हीं कलाकारों ने सतरंगी रोशनी के बीच अपनी कलात्मक प्रस्तुति दी।आयोजन में कलाकारों को प्रतीक चिन्ह द्वारा अतिथियों ने सम्मानित किया।इस मौके पर हिन्दुस्तान जिंक के लोकेशन हेड राजेश कुंडू, यूनियन के वरिष्ठ उपाध्यक्ष एस.के.मोड़, यूनिट हेड विनोद वाग,वित्त हेड आज़ाद शाह, यूनिट दो के हेड राजेश लुहाड़िया, एक्जेक्युटिव क्लब सचिव कैलाश चहांदे सहित मंजीत सिंह ग्रेवाल,बी.एल.गारू, पी.एस.राठौड़, देवेन्द्र जैन, स्पिक मैके अध्यक्ष डॉ. खुशवंत सिंह कंग,स्पिक मैके सचिव सांवर जाट सहित कई संस्कृतिप्रेमी उपस्थित थे। आभार  इम्पीरियल क्लब सचिव जी.एन.एस.चौहान ने दिया। यहाँ कार्यक्रम का संचालन महेंद्र नंदकिशोर ने किया। सूत्रधार की भूमिका स्पिक मैके कोषाध्यक्ष भगवती लाल सालवी, सदस्य संजा कोदली, जुनेद थे। राष्ट्रीय सलाहकार माणिक के अनुसार विरासत के आगामी आयोजन में छ अक्टूबर को प्रसिद्द राजस्थानी लोक गायक बुन्दू खान लंगा और सात अक्टूबर को मणिपुरी लोक नृत्य पुंग चोलोम का दल चित्तौड़गढ़ आयेगा।


सांवर जाट,स्पिक मैके चित्तौड़ सचिव

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

पेज