प्रेस विज्ञप्ति:रोनू मजुमदार का बांसुरी वादन 17 को - Apni Maati: News Portal

Breaking

Home Top Ad

Post Top Ad

शुक्रवार, अप्रैल 17, 2015

प्रेस विज्ञप्ति:रोनू मजुमदार का बांसुरी वादन 17 को

प्रेस विज्ञप्ति
रोनू मजुमदार का बांसुरी वादन 17 को

चित्तौड़गढ़ 16 अप्रैल 2015

स्पिक मैके आन्दोलन की चित्तौड़गढ़ शाखा अपने मुख्य आयोजन उत्सव-2015 में सत्रह अप्रैल की सुबह बांसुरी वादन की प्रस्तुति पेश करेगी। बस्सी फोर्ट पैलेस के निदेशक कर्नल रणधीर सिंह और सेन्ट्रल अकादमी स्कूल के प्राचार्य अश्लेश दशोरा के अनुसार शुक्रवार सुबह नौ बजे सेन्ट्रल अकादमी सीनियर सेकंडरी स्कूल,सेंथी में कार्यक्रम होगा जहां प्रसिद्द कलागुरु पंडित रोनू मजूमदार अपनी प्रस्तुति देंगे। आयोजन की समस्त तैयारियां कार्यक्रम समन्वयक परेश नागर और स्कूली विद्यार्थियों ने बड़े उत्साह के साथ पूरी की है। 

स्पिक मैके के वरिष्ठ सलाहकार डॉ.ए.एल.जैन के अनुसार पंडित रोनू मजुमदार ऐसे कलागुरुओं में से हैं जिनके परिवार में संगीत का दूर-दूर तक कोई रिश्ता नहीं रहा फिर भी उनहोने अपने ही बूते इस कला के ज़रिये विश्वभर में हिन्दुस्तान का नाम रोशन किया है रणेंद्रनाथ मजुमदार अब अपने प्रशसकों में रोनू दा के नाम से लोकप्रिय हैं। उन्होंने संगीत की शिक्षा अपने पिता डॉ. भानु मजुमदार, पंडित लक्ष्मण प्रसाद जयपुरवाले और पंडित विजय राघव राव सहित भारत रत्न पंडित रविशंकर जी से ली हैं आपका ताल्लुक संगीत के मैहर घराने से है जिसमें उस्ताद अली अकबर खान साहेब जैसे फनकार हुए हैं रोनू मजुमदार कभी ग्रेमी अवार्ड के लिए नामित भी हुए हैं। आपने देश के कई नामी कलाविदों सहित विदेशी संगीतकारों के साथ संगत में कई प्रस्तुतियां दी है। इस संगीत यात्रा में रोनू मजुमदार को राष्ट्रीय कुमार गन्धर्व अवार्ड आदित्य विक्रम बिरला अवार्ड सहित कई सम्मान मिल चुके हैं

संगतकार के रूप में बनारस और फर्रुखाबाद घराने से जुड़े तबला वादक अजीत पाठक और युवा बांसुरी वादक कल्पेश साचला शिरकत कर रहे हैं। अजीत पाठक ने तबला वादन की शिक्षा अपने पिता से ली और बाद में प्रसिद्द तबला वादक पंडित किशन महाराज के शिष्य हैं

सांवर जाट,सचिव,स्पिक मैके चित्तौड़गढ़

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

पेज