प्रेस विज्ञप्ति: चितेरों का संगम तीस और इकत्तीस दिसंबर को - Apni Maati: News Portal

Breaking

Home Top Ad

Post Top Ad

मंगलवार, दिसंबर 30, 2014

प्रेस विज्ञप्ति: चितेरों का संगम तीस और इकत्तीस दिसंबर को

प्रेस विज्ञप्ति 
चितेरों का संगम तीस और इकत्तीस दिसंबर को  
चित्तौड़गढ़ आर्ट फेस्टिवल में होगा दो दिवसीय आर्ट केम्प

चित्तौड़गढ़ 29 दिसम्बर 2014 

चित्तौड़गढ़ आर्ट सोसायटी द्वारा विभिन्न संस्थाओं के साथ मिलकर आयोजित आर्ट फेस्टिवल में उदघाटन के बाद से ही प्रदर्शनी को खूब सराहना मिल रही है जहां एक तरफ नगर के साथ ही देशभर के प्रयात्कों ने भी इस आयोजन को सराहा है वहीं दूसरी तरफ फेस्टिवल में चल रही पेंटिंग कार्यशाला की समन्वयक प्रतिमा आर्य और दीपिका शर्मा ने बताया कि जिले के दस स्कूलों के तीस विद्यार्थी हिस्सा ले रहे हैं  अभी तक जयपुर की रिया शर्मा ने वर्तमान दौर में चित्रकला और चित्रकारों की स्थिति पर कई अनुभव साझा किए। युवा वहीं फड़ चित्रकार दिलीप जोशी ने मेवाड़ की इस अनूठी लोक चित्रशैली की एक संगत में ही बच्चों का दिल जीत लिया  बच्चें खुद भी चित्र बना रहे हैं और अपने गुरु को भी चित्रकारी करते हुए देख सिख रहे हैं  सोमवार को भीलवाडा के चित्रकार एस.एन. सोनी ने कुम्भा महल परिसर में अक्रेलिक कलर से ही महल का एक हिस्सा बनाकर सभी को चकित कर दिया  गौरतलब है कि इस पांच दिवसीय कार्यशाला में वडोदरा के अतुल पाडिया का भी सानिध्य मिल रहा है

सोसायटी के साथी राहुल यादव, रुकैया  शैख़ और प्रतिभा यादव के अनुसार तीस और इकत्तीस दिसंबर को कुम्भा महल में ही आर्ट केम्प का आयोजन हो रहा है  केम्प का समय सुबह ग्यारह बजे से लेकर दोपहर दो बजे तक रहेगाइस अवसर पर राजस्थान,दिल्ली और गुजरात के पंद्रह चित्रकार स्वयं पेंटिंग्स बनायेंगे और इस एतिहासिक स्थल पर जिले के बच्चों को एक अनुभूति देंगे चित्रकारों में अजमेर के डॉ. अभिनव कमल रैना, उदयपुर से दीपिका माली, सुनील निमावत, यशपाल बरांडा,संदीप मेघवाल, ज्योतिका राठौड़, राजेश पांडे, राकेश सिंह, बाँसवाड़ा से तस्लीम जमाल, दिल्ली के अनिन्द कान्ति विश्वास, ब्रताती अनिध्य विश्वास, विरेन्द्र सिंह राठौड़ और गुजरात के अतुल पाडिया, रविन्द्र बोक्या और जिग्नेश शामिल हैं आर्ट सोसायटी संयोजक मुकेश शर्मा के अनुसार स्थानीय चित्रकारों में भी बाहर आने वाले चित्रकारों के इस केम्प को लेकर बहुत उत्साह है केम्प की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी है

डॉ. ए.एल.जैन, संरक्षकचित्तौड़गढ़ आर्ट फेस्टिवल

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

पेज