'रोशनाई' का पुन:प्रकाशन - Apni Maati: News Portal

Breaking

Home Top Ad

Post Top Ad

सोमवार, दिसंबर 23, 2013

'रोशनाई' का पुन:प्रकाशन


'रोशनाई' का पुन:प्रकाशन 
बिहार प्रलेस सहित साहित्य जगत को वैचारिक आयाम मिला है,
जो सुखद का है ..
इस ताज़े अंक, 'हिंसा के दायरे में स्त्री' विषयक परिचर्चा में- 
राजेन्द्र यादव, स्वंय प्रकाश, संजीव, प्रदीप सक्सेना, अनामिका, 
सुमन केसरी, पल्लव, वैभव सिंह, ज्योति चावला,
 उमा शंकर चौधरी, पंकज बिष्ट आदि..
प्रधान संपादक कथाकार संतोष दीक्षित 
व संपादक: दीपक कुमार राय 
को शुभकामनाएं.. { पृ.- 96, सहयोग- 40 रू.}
Print Friendly and PDF

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

पेज