राजस्थान साहित्य अकादमी के वर्ष 2013-14 के पुरस्कारों की घोषणा - Apni Maati: News Portal

Breaking

Home Top Ad

Post Top Ad

रविवार, दिसंबर 15, 2013

राजस्थान साहित्य अकादमी के वर्ष 2013-14 के पुरस्कारों की घोषणा


सर्वोच्च 'मीरा सम्मान''
वर्ष 2013-14 के
लिए सम्बोधन के सम्पादक
 और
हमारे अग्रज
क़मर मेवाड़ी को
उनकी कृति
 'जिजीविषा और अन्य कहानियाँ'
पर
राजस्थान साहित्य अकादमी द्वारा वर्ष 2013-14 के लिए वार्षिक पुरस्कारों की घोषणा आज कर दी गई है। यह जानकारी देते हुए अकादमी अध्यक्ष वेदव्यास ने बताया कि इस वर्ष का सर्वोच्च मीरा पुरस्कार कांकरोली के कमर मेवाड़ी को उनके कहानी संग्रह ‘जिजीविषा’ और अन्य कहानियों पर दिया जाएगा। इसी प्रकार इस वर्ष का सुधीन्द्र पुरस्कार अजमेर के डॉ. अनुराग शर्मा को उनके कविता संग्रह ‘तेरे जाने के बाद तेरे आने से पहले’ पर दिया जा रहा है जबकि रांगेय राघव पुरस्कार जयपुर के रामकुमार सिंह को उनके कहानी संग्रह ‘भोभर तथा अन्य कहानियां’ पर मिलेगा। 

अकादमी अध्यक्ष ने आगे बताया कि वर्ष 2013-14 की पुरस्कार योजना के अन्तर्गत देवीलाल सांभर पुरस्कार जयपुर के सुनील खन्ना को उनकी नाट्य पुस्तक ‘नव्य लघु नाटक’ पर दिया जाएगा वहां आलोचना का देवराज उपाध्याय पुरस्कार कोटा के डॉ. नरेन्द्र चतुर्वेदी को उनकी पुस्तक ‘हाड़ौती अंचल की हिन्दी काव्य परम्परा और विकास पर’ मिलेगा। वेदव्यास ने बताया कि इस बार कन्हैयालाल सहल पुरस्कार सवाई माधोपुर के प्रभाशंकर उपाध्याय को उनके व्यंग्य संग्रह ‘काग के भाग बड़े’ पर मिलेगा वहीं डॉ. आलमशाह खान अनुवाद पुरस्कार बीकानेर के जेठमल मारू को उनकी पुस्तक ‘ईप्सितायन’ दिया जा रहा है। इसी प्रकार मरूधर मृदुल युवा लेखन पुरस्कार उदयपुर की श्रीमती रीना मेनारिया को उनकी पुस्तक ‘उधार के कौर’ (कहानी) पर दिया गया है वहीं प्रभाखेतान प्रवासी रचनाकार पुरस्कार हरियाणा से श्रीमती कमल कपूर को उनकी पुस्तक ‘कदम्ब की छांव’ पर दिया गया है। अकादमी पुरस्कार योजना में इस बार शंभूदयाल सक्सेना बाल साहित्य पुरस्कार भीलवाड़ा के सत्यनारायण को उनकी पुस्तक ‘अनोखा फैसला’ के लिए दिया जाएगा वहीं सुमनेश जोशी प्रथम प्रकाशित कृति पुरस्कार कोटा के रामनारायण हलधर को उनकी कविता पुस्तक ‘शिखरों के हकदार’ पर मिलेगा।

अकादमी अध्यक्ष ने जानकारी दी कि मीरा पुरस्कार में विजेता को जहां 75,000 रु. की राशि दी जाती है वहां अन्य सभी पुरस्कारों में 31,000 रुपए की राशि दी जाती है तथा प्रथम प्रकाशित कृति के सुमनेश जोशी पुरस्कार में विजेता को 15,000 रुपए की राशि सम्मान-पत्र आदि भेंट किए जाते हैं। 
Print Friendly and PDF

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

पेज