'अपनी माटी' का त्रैमासिक आयोजन 'किले में कविता' - Apni Maati: News Portal

Breaking

Home Top Ad

Post Top Ad

बुधवार, जुलाई 24, 2013

'अपनी माटी' का त्रैमासिक आयोजन 'किले में कविता'

पहला आयोजन 
त्रैमासिक आयोजन  'किले में कविता'

चित्तौड़गढ़।
साहित्य और संस्कृति के प्रकल्प अपनी माटी का आगामी त्रैमासिक आयोजन कविता गोष्ठी के रूप में होगा। इससे पहले भी अपनी माटी त्रिवेणी के नाम से एक कविता संगोष्ठी कर चुका है। असल में हमारा मन है कि हम चित्तौड़ दुर्ग में अनौपचारिक रूप से छोटे समूह में ऐसे आयोजन किये जाएँ। ताकि ऐसे अवसरों के बहाने हम अपनी धरोहर को बहुत नजदीक से अनुभव कर पायें।आयोजन मासिक ई पत्रिका अपनी माटी के सलाहकार और वरिष्ठ कवि डॉ सत्यनारायण व्यास के अनुसार आयोजन चार अगस्त रविवार शाम चार बजे दुर्ग स्थित जटाशंकर मंदिर परिसर में होगा। गोष्ठी में जिले के कई वरिष्ठ और नवोदित कवि अपनी रचनाओं का पाठ करेंगे। इस अवसर पर अपनी माटी के बीते महीनों में प्रकाशित चारों मासिक अंकों पर भी चर्चा की जाएगा।आयोजन में कोई भी रुचिशील भाग ले सकेगा।



कोई टिप्पणी नहीं:

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

पेज