वन विभाग द्वारा चित्तौड़ दुर्ग की हेरिटेज वॉक - Apni Maati: News Portal

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

बुधवार, अक्तूबर 03, 2012

वन विभाग द्वारा चित्तौड़ दुर्ग की हेरिटेज वॉक

चित्तौड़गढ़

वन्य जीव सप्ताह के तहत तीन अक्टूबर,2012 को सवेरे सात बजे से शुरू हुयी इस ऐतिहासिक हेरिटेज यात्रा में लगभग पांच सौ से  विद्यार्थियों ने जिला प्रशासन और वन विभाग के साथ मिलकर एक सफल आयोजन किया। प्रतिभागी संस्थानों में सैनिक स्कूल, आलोक स्कूल, चिल्ड्रन पेरेडाईस स्कूल, सीटी गर्ल्स,  अकादेमी, कालिका ज्ञान केंद्र, मेवाड़ गर्ल्स कोलेज, स्काउट-गाईड का दल आदि मौजूद थे। दुर्ग के पीछे वाले हिस्से में सूरजपोल गाँव से चढ़ाई शुरू करके मृगवन से होते हुए सभी ने प्राचीर के सहारे सहारे यात्रा की।

सूरजपोल गाँव में सभी का स्वागत थाली और मांदल जैसे वाध्य यंत्रों के साथ किया गया। जिला कलेक्टर रवि जैन सहित बहुत से गणमान्य लोग उपस्थित थे।वन वि भाग के मुकेश सैनी,जिला कोषाधिकारी हरीश लड्ढा,स्पिक मैके सभागीय समन्वयक जे पी भटनागर,व्यवसायी अनिल सिसोदिया,विजयपुर राव,कर्नल  रणधीर सिंह,सत्य नारायण समदानी मौजूद थे।बहुत सी शैक्षणिक संस्थाओं के प्रतिनिधी भी उपस्थित थे जिनमें अश्रलेश दशोरा,नन्द किशोर निर्झर,अनिल सिंह राठौड़ दशोरा,  हरी झंडी दिखाने के साथ ही बहुत सी  संस्थाओं के बच्चों के साथ ही संस्कृतिकर्मी मौजूद थे। सभी ने इस पैदल यात्रा में हिस्सा लिया। किले पर चढ़ने के बाद सूरजपोल और मृगवन के पास सभी के लिए नास्ते और जन की सुविधा करवाई गयी।

अंत में विजय स्तम्भ के पास वाले मैदान में बैठकर बच्चों ने गाईड शांति लाल सुधीर कुमार,पार्वती से इतिहास की जानकारी सुनी। कुल मिलाकर बहुत उत्साह से परिपूर्ण माहौल रहा। जिला कलेक्ट्रर ने इस तरह के आयोजन को बहुत अच्छी  पहल बताते हुए इसे आने वाले वक़्त में  भी बड़े स्वरुप के साथ  करने का वादा किया। वहीं प्रतिभागी लोगों के लिए एक लाटरी भी निकाली गयी जिसमें बारह विजेताओं को दो दिन और एक रात के लिए भ्रमण और का ईनाम दिया गया। जिसका  खर्च वन विभाग उठाएगा।अंत में अल्पाहार के साथ आयोजन खत्म हुआ।

सभी छायाचित्र 



कोई टिप्पणी नहीं:

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

पेज