‘‘स्वास्थ्य और स्वच्छता के लिए प्रत्येक व्यक्ति की भूमिका’’ Vaya गिलूण्ड - Apni Maati: News Portal

Breaking

Home Top Ad

Post Top Ad

बुधवार, सितंबर 12, 2012

‘‘स्वास्थ्य और स्वच्छता के लिए प्रत्येक व्यक्ति की भूमिका’’ Vaya गिलूण्ड


सितम्बर 12, 2012 चित्तौड़गढ़। 

आक्सफॉम इण्डिया एवं डीएफआईडी के सहयोग से प्रयास द्वारा संचालित जन स्वास्थ्य एवं सुरक्षित मातृत्व अभियान के अन्तर्गत ‘‘स्वास्थ्य और स्वच्छता के लिए प्रत्येक व्यक्ति की भूमिका’’ विषय पर एक मेले का आयोजन दिनांक 12 सितम्बर, 2012 को प्रातः 11.00 बजे से चित्तौडगढ जिले के गिलूण्ड राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय प्रांगण में किया गया। इस मेले में गिलूण्ड ग्राम पंचायत क्षेत्र के ग्रामीणों सहित महिला एवं बाल विकास और स्वास्थ्य विभाग, शिक्षा विभाग, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग, ं चित्तौडगढ-प्रतापगढ दुग्ध उत्पादन सहकारी समिति लि. के प्रतिनिधियों एवं विद्यालयी बच्चों ने भाग लिया। 

इस मेले में ‘‘सुन्दर और स्वस्थ गांव की परिकल्पना’’ को लेकर विद्यालयी के 20 छात्र-छात्राओं ने भाषण एवं पोस्टर प्रतियोगिता में भाग लिया। छात्र-छात्राओं ने स्वास्थ्य एवं स्वच्छता के लिए प्रत्येक व्यक्ति की भूमिका विषय पर अपने भाषण के माध्यम से ग्राम स्वच्छता, स्वच्छ जल एवं संतुलित भोजन, स्थास्थ्य और बीमारियो की रोकथाम के लिए छोटी-छोटी जानकारी देकर लोगों को जागरूक बनने का संदेश दिया। भाषण प्रतियोगिता में सुश्री पूजा तेली प्रथम और शुभम डांगी द्वितीय रहे तथा पोस्टर प्रतियोगिता में दीपक डांगी प्रथम और सुश्री माया टेलर द्वितीय स्थान पर रहे। बच्चों के उत्साहवर्द्धन के लिए उन्हें संस्था प्रधान हजारी लाल बारबर और प्रयास सचिव डॉं. नरेन्द्र गुप्ता द्वारा पारितोषिक प्रदान किये गये। 

समुदायिक स्वास्थ्य वेैज्ञानिक प्रयास सचिव डॉ. नरेन्द्र गुप्ता ने मेले में ‘‘स्वास्थ्य, स्वच्छता और पोषण के बारे में व्यापक जानकारी प्रदान करते हुए कहा कि सभी लोग स्वच्छ जल का उपयोग करें, सभी महिलाओं और बच्चों को संतुलित भोजन मिले, प्रत्येक घर में शोैचालय बने तभी हमारे देश की स्वास्थ्य स्थिति मजबूत होगी। डॉं. गुप्ता ने घटते बाल लिंगानुपात पर चिन्ता व्यक्त करते हुए कन्या भु्रण हत्या को रोकने, बाल विवाह को रोकने, सुरक्षित मातृत्व एवं बाल स्वास्थ्य, मातृ एवं शिशु मुत्यु दर कम करना, संस्थागत प्रसव को बढावा देने, टीकाकरण, बालिका शिक्षा, भारत में महिलाओं के पोषण स्थिति पर भी विस्तृत जानकारी प्रदान की। 

चित्तौडगढ-प्रतापगढ दुग्ध उत्पादन सहकारी समिति प्रतिनिधी ने स्वास्थ्य और स्वच्छता के लिए प्रत्येक व्यक्ति की भूमिका के बारे में जानकारी प्रदान करते हुए बताया कि ग्रामीण जीवन में पशुओं का विशेष महत्व होता है। उन्होने लोगों को दुग्ध उत्पादन के लाभ तथा इसकी पोष्टिक क्षमता के बारे में जानकारी प्रदान की। वरिष्ठ समाज सेवी चम्पा लाल टेलर ने स्वयं की, घर की और गांव की स्वच्छता पर विशेष बल दिया। 

श्रीमती कला सेवरिया महिला प्रसाविका गिलूण्ड ने मातृत्व स्वास्थ्य के बारे में समझाते हुए सुरक्षित मातृत्व के लिये निरन्तर प्रयास करने पर जोर दिया। उन्होने कहा कि संस्थागत प्रसव कराने पर ही मातृ मृत्यु एवं शिशु मृत्यु दर में कमी आयेगी। इसके साथ ही उन्होंने मौसमी बीमारिया के बचाव और उपचार, किशोर-किशोरी स्वास्थ्य, खान-पान, स्वास्थ्य और शारिरीक स्वच्छता के लिए ध्यान रखने योग्य महत्वपूर्ण विषयों पर विस्तार से जानकारी दी। गीताजंली आचार्य द्वारा मनमोहन प्रस्तुती दी जिसकी सभी लोगों ने भूरी-भूरी प्रंशसा की। 

प्राचार्य हजारी लाल बारबर ने स्वास्थ्य और स्वच्छता के लिए आयोजित मेले और स्पिक मैके द्वारा प्रस्तुत कार्यक्रम की सराहना करते हुए कहा कि इस प्रकार के आयोजन होते रहने से लोगों को कई प्रकार की जानकारिया हासिल होगी। इनके अतिरिक्त प्रयास कार्यक्रम समन्वयक रितेश लढ्ढा, खेमराज चौधरी निदेशक प्रयास, श्रीमती सुमन चौहान और श्रीमती रेखा नागदा ने संदर्भ सेवाएं प्रदान की। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

पेज