मां का पहला दूध बच्चे के लिए अमृत समान - Apni Maati: News Portal

Breaking

Home Top Ad

Post Top Ad

सोमवार, अगस्त 06, 2012

मां का पहला दूध बच्चे के लिए अमृत समान


  • विश्व स्तनपान सप्ताह के उपलक्ष में घटियावली में संगोष्ठी

चित्तौड़गढ़
अगस्त 6, 2012 चित्तौड़गढ़। विश्व स्तनपान सप्ताह के उपलक्ष में प्रयास, महिला एवं बाल विकास विभाग और स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त तत्वावधान में घटियावली में एक महिला संगोष्ठी आयोजन किया गया। इस संगोष्ठी में घटियावली क्षेत्र की आशा कार्यकर्ता, आंगनवाडी कार्यकर्ताओं सहित लगभग 40 महिलाओं ने भाग लिया। संगोष्ठी के प्रारम्भ में श्रीमती राजेश्वरी वर्मा, महिला पर्यवेक्षक, महिला एवं बाल विकास विभाग ने सम्बोधित करते हुए कहा कि मां का पहला दूध बच्चे के लिए पहला टीका होता है। उन्होंने महिलाओं शपथ दिलाते हुए कहा कि प्रत्येक गर्भवती महिला को चाहिए कि वह होने वाले नवजात को एक घण्टे के अन्दर मां का पहला दूध पिलावे। इससे नवजात शिशु को कई प्रकारों बीमारियों से बचाया जा सकता है  

प्रयास समन्वयक सुश्री एकता ने महिलाओं को विस्तृत जानकारी देते हुए कहा कि शिशु को छः माह तक केवल मां का दूध ही पिलाना चाहिए इसके अलावा कोई पदार्थ नही देना चाहिए। मां का दूध पिलाने से एक से दूसरे बच्चे में अन्तर रखने एवं स्तन केंसर से बचने का एक आसान तरिका है। उन्होने कहा कि नवजात को गुल्ला नही पिलाना चाहिए। महिला स्वास्थ्य प्रसाविका, स्वास्थ्य केन्द्र घटियावली ने श्रीमती गीता जी मातृत्व स्वास्थ्य के परिदृश्य को समझाते हुए सुरक्षित मातृत्व के लिये निरन्तर प्रयास करने पर जोर दिया। उन्होने कहा कि संस्थागत प्रसव कराने पर ही मातृ मृत्यु एवं शिशु मृत्यु दर में कमी आयेगी। इस दौरान आंगनवाडी केन्द्र पर एक गर्भवती महिला की गोद भराई रस्म भी की गई और सभी ने उसे मातृत्व एवं शिशु की सुरक्षा की शुभकामनाएं दी। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

पेज