आज कथक हुआ कल शास्त्रीय गायन - Apni Maati: News Portal

Breaking

Home Top Ad

Post Top Ad

मंगलवार, अगस्त 21, 2012

आज कथक हुआ कल शास्त्रीय गायन

  • प्रेस विज्ञप्ति 

आदर्श स्कूल में बालिकाओं ने कथक  की बारीकियां करीब से देखी
मंगलवार को स्पिक मैके चित्तौड़ की विरासत समबन्धी गतिविधियाँ शुरू हो गयी हैं। किला रोड ने स्थित दो राजकीय संस्थानों में हुए आयोजन से विद्यार्थियों ने आज लखनऊ  घराने का कथक  नृत्य सीखा।युवा और नवाचारी प्रवृति की कलाकार मउमाला  नायक ने अपनी शिष्या के साथ मिलकर आधे-आधे घंटे की कार्यशाला की। फिर बातचीत के ज़रिये उन्होंने नृत्य परम्परा के बारे में विस्तार से बताया।सुबह दस बजे हुए पहले आयोजन में आदर्श उप्रावि स्कूल में कलाकारों का अभिनन्दन प्रधानाध्यापक सोहन लाल पांड्या और अध्यापिका  सुनीता जैन और उषा शर्मा ने किया। यहाँ प्रताप स्कूल के बच्चों ने भी प्रतिभागिता करके लाभ उठाया।

दोपहर बारह बजे हुए दूसरे कार्यक्रम में भी अब तक वंचित रहे लगभग तीन सौ विद्यार्थियों को कथक जैसी उत्तर भारतीय शास्त्रीय नृत्य शैली का ज्ञान मिल सका। पाडन पोल स्थित पुरुषार्थी उमावि स्कूल में हुए इस कार्यक्रम में दीप प्रज्जवलन प्राचार्य नन्द किशोर निर्झर,अध्यापिका शशि गुप्ता ने किया।यहाँ भी प्रतिभागी विद्यालयों में नजदीक के बालिका उप्रावि स्कूल की बालिकाओं ने भाग लिया। इन दोनों प्रस्तुतियों का संचालन स्पिक मैके के संभागीय समन्वयक जे.पी.भटनागर ने किया।मऊमाला नायक की बुधवार को आयोज्य प्रस्तितियाँ  सुबह नौ बजे उप्रावि गाड़िया लौहार स्कूल और साढ़े  ग्यारह बजे राजकीय माध्यमिक विद्यालय,  देवरी में होगी।

इधर विरासत के मुख्य आयोजन की शुरुआत बुधवार शाम साढ़े छ: बजे होगी सैनिक स्कूल के शंकर मेनन सभागार में होगी। हेडमास्टर एम्.आई.हुसैन ने बताया कि उदघाटन में हिन्दुस्तानी शास्त्रीय गायिका मंझुषा  पाटिल प्रस्तुति देगी। महाराष्ट्र वासी मंझुषा  संगीत विशारद है। आगरा और ग्वालियर घराने से जुडाव वाली पाटिल वर्तमान में पंडित उल्हास केशालकर से तालीम ले रही हैं। देश और विदेश में प्रस्तितियाँ दे चुकी हैं।स्पिक मेके के सभी आयोजन में विद्यार्थियों और रसिकजन हेतु प्रवेश नि:शुल्क है।

डॉ .ए .एल.जैन 

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

पेज