शमशेर सम्मान -2011 घोषित - Apni Maati: News Portal

Breaking

Home Top Ad

Post Top Ad

मंगलवार, जनवरी 24, 2012

शमशेर सम्मान -2011 घोषित

2011 का प्रतिष्ठित शमशेर सम्मान 

सृजनात्मक गद्य के लिए

 वरिष्ठ आलोचक और गद्यकार विश्वनाथ त्रिपाठी 


व 

कविता के लिए हिंदी के प्रतिष्ठित कवि बद्री नारायण 


को 

नई दिल्ली में 

जून, 2012 में दिया जाना हर्ष का प्रसंग है  

 

बद्रीनारायण जी की एक कविता

'आप उसे फ़ोन करें '


आप उसे फ़ोन करें 
तो कोई ज़रूरी नहीं कि 
उसका फ़ोन खाली हो 
हो सकता है उस वक़्त 
वह चांद से बतिया रही हो 
या तारों को फ़ोन लगा रही हो 

वह थोड़ा धीरे बोल रही है
सम्भव है इस वक़्त वह किसी भौंरे से 
कह रही हो अपना संदेश 
हो सकता है वह लम्बी, बहुत लम्बी बातों में 
मशगूल हो
हो सकता है
एक कटा पेड़ 
कटने पर होने वाले अपने 
दुखों का उससे कर रहा हो बयान

बाणों से विंधा पखेरू
मरने के पूर्व उससे अपनी अंतिम 
बात कह रहा हो 

आप फ़ोन करें तो हो सकता है 
एक मोहक गीत आपको थोड़ी देर 
चकमा दे और थोड़ी देर बाद 
नेटवर्क बिजी बताने लगे 
यह भी हो सकता है एक छली 
उसके मोबाइल पर फेंक रहा हो 
छल का पासा 

पर यह भी हो सकता है कि एक फूल 
उससे काँटे से होने वाली 
अपनी रोज़-रोज़ की लड़ाई के 
बारे में बतिया रहा हो 
या कि रामगिरि पर्वत से 
चल कोई हवा
उसके फ़ोन से होकर आ रही हो।
या कि चातक, चकवा, चकोर उसे
बार-बार फ़ोन कर रहे हों

यह भी सम्भव है कि 
कोई गृहणी रोटी बनाते वक़्त भी 
उससे बातें करने का लोभ संवरण
न कर पाए 
और आपके फ़ोन से उसका फ़ोन टकराए
आपका फ़ोन कट जाए 

हो सकता है उसका फ़ोन 
आपसे ज़्यादा
उस बच्चे के लिए ज़रूरी हो
जो उसके साथ हँस-हँस 
मलय नील में बदल जाना चाहता हो 
वह गा रही हो किसी साहिल का गीत 
या हो सकता है कोई साहिल उसके 
फ़ोन पर गा रहा हो 
उसके लिए प्रेमगीत 

या कि कोई पपीहा 
कर रहा हो उसके फ़ोन पर 
पीउ-पीउ
आप फ़ोन करें तो कोई ज़रूरी 
नहीं कि 
उसका फ़ोन खाली हो।

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

पेज