शंकर सम्राट के जादू से रोमांचित हुए दर्शक - Apni Maati: News Portal

Breaking

Home Top Ad

Post Top Ad

बुधवार, दिसंबर 28, 2011

शंकर सम्राट के जादू से रोमांचित हुए दर्शक


                            
मुंगेर 
मुंगेर के बैधनाथ सिनेमा हॉल मैं मंगलवार को प्रख्यात जादूगर  शंकर सम्राट के जादुई कार्यकर्म का उदघाटन मुंगेर रेंज के डी आई जी अनिल किशोर यादव ने डीप प्रज्वल्लित कर किया / उदघाटन शो मैं लगातार चले जादुई कार्यकर्म मैं रहस्या ,रोमांच, हँसी व कई खोपनाक दृशयों से भरे कार्यकर्म को देख कर दर्शक रोमांचित हो उठे / कार्यकर्म के दौरान मुंगेर रेंज के डी आई जी अनिल किशोर यादव व पत्रकार अवधेश कुमार को उस समय अचंभें मैं डाल दिया /जब इन दोनों ने शंकर सम्राट को प्रशस्ति पत्रदिया / इस प्रशस्ति पत्र को जादूगर ने इश्तीफ़े मे  बदल डाला एवं उनकी चल अचल संपति को इस्तीफा  मे बदल डाला /इसी कड़ी मे रंग से भारी ग्लास से फूल बर्षा कर उनका स्वागत किया / जादू की इस कला को देख कर दर्शको मैं खूब तालियाँ बटोरीं / इसके साथ ही खाली बक्सा से लड़की प्रकट होना /उंगली से हवा  मे लड़की को घूमना ,किताब मे पानी डाल कर पानी न गिरना,छोटे  ग्लास मैं रखा दूध बड़े ग्लास मे भी भर जाना लोगों के कोत्ूहल का विषय बना रहा/ कई कार्यक्रम इसी तरह पेश किए गये जिसमे लोग हेरत मे पड़ गये / एक बक्सा मे लड़की  को रख कर हाथ,पैर ,धड़  अलग कर देना /लड़की को हवा मे खड़ा  रखना,बक्से से लड़की को गायब करना ,खाली बक्से से तीन लड़कियों को निकलना,लड़की के आँख पर पट्टी बाँध कर गर्दन  के आर पार तलवार करना ,डंडा को हवा मे नाचना ,खुद बक्से मे बंद कर अपने को दर्शको के बीच से निकलना जैसे कार्यक्रम  से दर्शक दाँतों तले उंगलियों दबाने को मजबूर हो गये / 

अपने शो के दौरान जादूगर शंकर सम्राट कई मुद्राऔ  मे दर्शको के समक्ष आए / इस कार्यक्रम मे जन संपर्क के उप निदेशक डॉक्टर राम निवास पांडे सहित कई प्रशासनिक अधिकारी थे / देश विदेश के एक हज़ार से अधिक चुनिंदा शहरों मे अपनी जादू कला का प्रदर्शन कर चुके चर्चित बिहारी जादूगर शंकर सम्राट ने कहा की जादू एक कला एवं फ़ाइन आर्ट हैं / यह पूरी तरह साइन्स पर आधारित योग साधना एवं सम्मोहन का मिश्रण हैं / पटना बी.एन .कॉलेज से अँग्रेज़ी मैं प्रतिष्ठा एवं इंदिरा गाँधी मैजिक इन्स्टिट्यूट उदयपुर संस्थान से ग्रैंड मेजिशियन की डिग्री हासिल कर चुके जादूगर शंकर सम्राट के मुताबिक वे करीब तीन सौ  तरह के अजूबे करतब दिखाने मे दक्ष हैं /वे एक माह तक मुंगेर मे जादू का प्रदर्शन करेंगे / बिहार,झारखंड के अलावा छात्ीसगढ़ मध्यप्रदेश और विदेश मे मस्कट सऊदी अरबियाँ एवं नेपाल मे अपने करतब दिखा चुके हैं /

 बैंक मैनेजर के पुत्र तथा जहानाबाद के  शंकर सम्राट ने बताया की जादू कला के प्रति उनका रुझान स्कूल से ही था / आरम्भ मे घर वालो का विरोध झेलना पड़ा / लेकिन समय के साथ सब ठीक हो गया /  उन्होने बताया की जादू कला भारतीय कला हैं / यह द्वापर युग मे भी था लेकिन इन दिनों यह कला अपने देश मे ही विलुप्त होती जा रही हैं / इसलिए इस कला को शिखर तक पहुचाना उनका मकसद हैं / उनके मुताबिक इस कला के ज़रिए अंध विश्वश को दूर किया जा सकता हैं / अपने कार्यक्रम के मध्यम से वे नशा  उन्मूलन का संदेश देते हैं / उन्होने कहा की बिहार सरकार ने भी इस कला को प्रोत्साहित करने के लिए घोषणा की थी / लेकिन उसे नीतीश की सरकार ने अमलीजामा नही पहनाया / जिस तरह से देश के दूसरे राज्यों मे जादूगर की शिक्षा दी जाती हैं ,उसी तरह बिहार मे भी जादू की तालीम और इसके प्रशिक्षण के लिए केंद्र खोला जाना चाहिए / प्राचीन भारतीय विद्या विश्वा के स्तर पर प्रतिष्तायत हो / इस दिशा मे सामूहिक प्रयास होने चाहिए / उन्होने कहा की पी. सी . सरकार सीनियर ने इस कला को काफ़ी प्रतिष्ठा दिलाई हैं / जादूगर के लाल ,आनंद पी. सी. सरकार जूनियर से उन्हे काफ़ी प्रेरणा मिली हैं / एक सवाल के जबाब मैं बताया की भारत मैं जादू की कला लुप्त हो रही हैं , जबकि विदेशों मे शोध हो रहे हैं और भारतीय जादू को रेमंडयूल  कर पेश किया जा रहा हैं  वह विदेशों से आयातित जादू कहला रही हैं


सज्जन कुमार गर्ग
द्वारा -श्री हरिशचंद गर्ग
मोहल्ला - सदर बाज़ार मारवाड़ी मोहल्ला
पोस्ट-जमालपुर
जिला -मुंगेर
मोबाइल-09931554140
ई-मैल - garg.sajjan@gmail.com

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

पेज