इतना छोटा शौर्य और इतनी गहरा काम - Apni Maati: News Portal

Breaking

Home Top Ad

Post Top Ad

रविवार, नवंबर 06, 2011

इतना छोटा शौर्य और इतनी गहरा काम


नीमच। 
महज 4 बरस के बालक ने मुंबई के ताज होटल में अपनी कला का जादू बिखेरा है। यह बालक शौर्य  मेहनोत है जिसके कद्रदानों की लंबी फेहरिस्त है। इस नन्हें कलाकार ने प्रतिभा से मशहूर ताज होटल का प्रबंधन इनता प्रभावित हुआ कि उन्होंने अपने चेंबर्स टेरेस पर पहली बार किसी कलाकार की प्रदर्शनी लगाई। चैबर्स टेरेस वह जगह है जिसे होटल ताज विशेष प्रकार के कायक्रमों के लिए इस्तेमाल करता है। 







यहां सौभाग्य मिला-
चैंबर टेरेस पर भारत के दौरे पर आए अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने इसी टेरेस से मुंबई में अपनी भाषण दिया था। 2011 का क्रिकेट विश्व कप जीतने के बाद टीम इंडिया ने इसी जगह पर जश्न मनाया था और 21 अक्टूबर को चेंबर्स टेरेस पर शैरी ने अपनी पेंटिंग की प्रदर्शनी लगाई। 
खिलौना दिलाने पर करता पेंटिंग-
शौर्य इतना मासूम है कि प्रदर्शनी में विभिन्न आर्ट स्कलों  के 24 कलाकारों को बुलवाया गया था जिन्होंने उसकी पेंटिंग को नाम दिए, लेकिन ये इतना छोटा है कि अपनी पेंटिंग का नाम नहीं दे सकता। उसके पिता नीमच निवासी कालोनाइजर आदित्यसिंह मेहनोत के अनुसार वह पेंटिंग तभी बनाता है जब उसे खिलौना दिलाया जाता है। अब तक वह 100 पेंटिंग बना चुका है। उसका पसंदीदा रंग मरीन ब्लू व जामूनी है।  

 
श्याम जाटव
युवा लेखक और पत्रकार 
09407145299
shyamjatav@gmail.com

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

पेज