''राजस्थान में ही प्रतिवर्ष 5300 महिलाओं की मृत्यु प्रसव के दोरान हो जाती है।''-मंत्री भरतसिहं - Apni Maati: News Portal

Breaking

Home Top Ad

Post Top Ad

रविवार, सितंबर 18, 2011

''राजस्थान में ही प्रतिवर्ष 5300 महिलाओं की मृत्यु प्रसव के दोरान हो जाती है।''-मंत्री भरतसिहं

चित्तौड़गढ़ 
ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज तथा जिले के प्रभारी मंत्री भरतसिहं ने कहा कि जननी एवं जन्म भूमि की सुरक्षा आज के परिपेक्ष में नितांत आवश्यक हैं। देश पर आतंकवाद खतरा मंडरा रहा हैं वही बडी संख्या में प्रसव के दौरान माताओं की मृत्यृ भी चिन्ताजनक हैं। केवल राजस्थान में ही प्रतिवर्ष 5300 महिलाओं की मृत्यु प्रसव के दोरान हो जाती है। 
 
भरतसिहं बुधवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बैगू तथा रावतभाटा में जननी-शिशु सुरक्षा कार्यक्रम के शुभारम्भ अवसर पर मुख्य अतिथि पद से सम्बोधित कर रहे थे उन्होने कहा कि राज्य सरकार ने जननी के साथ साथ नवजात शिशु  की सुरक्षा का दायित्व लिया है तथा पूरे प्रदेश में उत्सव के रूप में जोर शोर से योजना को प्रारम्भ किया हैं। उन्होने कहा कि जननी सुरक्षा योजना में अच्छा काम हुआ है तथा योजना का विस्तार करते हुये  शिशुओं  की सुरक्षा को भी इससे जोडा गया हैं। प्रतिवर्श 13 लाख बच्चे एक वर्ष की उम्र पुरी करने से पहले ही कालकवलित हो जाते है इनमे से एक लाख बच्चे राजस्थान में मृत्यु को प्राप्त होते हैं।

  उन्होने कहा कि जननीःशिशु सुरक्षा योजना को राष्ट्रीय कार्यक्रम मानकर सभी सहयोग करें,कार्यक्रम की कमीयों को दूर करे तथा प्रशासन व चिकित्सा विभाग मिलकर निरंतर प्रयास जारी रखें। 2011 की जनसंख्या के आकडें उत्साहवर्धक नही रहे हैं। आबादी बेशुमार बढ गई है, लिगांनुपात में असमानता पैदा हो गई है तथा कन्याओं की संख्या में चिन्ताजनक गिरावट आई हैं। आबादी के मामले मे हम शीघ्र ही चीन को पछाड देगें पर हमे चीन से ही सबक लेना होगा जिसने आबादी पर नियंत्रण पा लिया हैं।  

    भरतसिहं ने अतिथियों के साथ धनवन्तरी के चित्र पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्ज्वलित किया उन्होंने प्रसुताओं की वाहन को हरी झंण्डी दिखा कर रवाना किया तथा जननी सुरक्षा योजना के चैंक वितरित किये । समारोह  को सम्बोधित करते हुये जिला कलेक्टर रवि जैन ने कहा कि याजना का लाभ नीचे के स्तर तक पहुचे इसके लिये चिकित्साकर्मी सहयोग करे तथा योजना को सही ढंग लागू करे। उपखण्ड अधिकारी रात्रि चौपालों तथ ग्रामसभाओं में भी जननी-शिशु सुरक्षा योजना सहित सभी योजनाओं की जानकारी आमजन तक पहुचायें।बैगू की प्रधान रूकमादेवी ने समारोह को सम्बोधित करते हुये कहा कि जननी-शिशु सुरक्षा योजना तथा मुख्यमंत्री ग्रामीण बीपीएल आवास योजना राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाऐं हैं। उन्होने इन योजनाओं के लागू करने पर मुख्यमंत्री का आभार जताया।   कार्यक्रम में पूर्व राज्यमंत्री राव हरिसिहं ने कहा कि प्रसव के दौरान माता का पुनर्जन्म होता हैं। युपीए व राज्य सरकार ने इस दिषा में कल्याणकारी कदम उठाया हैं। समारोह में पूर्व उपजिला प्रमुख जनकसिहं ,उपखण्ड अधिकारी अरविदं सक्सैना, तहसीलदार,जनप्रतिनिधिगण ,पत्रकार तथा बडी संख्या में आमजन मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

पेज