सूफी गायन से विजन के श्रोता हुए मंत्रमुग्ध - Apni Maati: News Portal

Breaking

Home Top Ad

Post Top Ad

सोमवार, सितंबर 03, 2012

सूफी गायन से विजन के श्रोता हुए मंत्रमुग्ध


प्रेस-नोट
 सूफी गायन सेविजन केश्रोता हुएमंत्रमुग्ध

                स्पिक मैके,बेंक ऑफ़ बड़ोदाऔर जुबिलंटभरतीया फाउन्डेशनके तत्वाधानमें विजनस्कूल ऑफमेनेजमेन्ट में उस्ताद् ज़मील खानएवं ग्रुपद्वारा सूफीसंतों कीगायकी कीप्रस्तृति दी गई। कार्यक्रम संयोजकडॉ. विभोरपालीवाल नेबताया कि  दीप प्रज्ज्वलन अध्यक्षडॉ. .एल.जैन,संभागीय समन्वयकजे.पी.भटनागर मुख्यअतिथि ज़मीलखान एवंपूर्व नगरपालिकाअध्यक्षा आनन्दसान्दू नेकिया।  इसके पश्चात् कॉलेज के प्रो. मुकेश कुमावत, प्रो. हरिसिंह सांखला, प्रो. लतिकासुराणा एवंछात्र सुंधाषुशर्मा, संयमपुरीएवं कालुरामगुलगामा नेकलाकारों कामाल्यार्पण कर स्वागत किया। डॉ. पालीवाल नेबताया किविश्व मेंबहुत सेदेशों मेंअपनी गायकीके जलवेबिखेर चुकेजमिल खानमांगनियार ने अपने 6 सदस्यीय दलके साथअपनी प्रस्तुतियांदेकर छात्रोको मंत्रमुग्धकर दिया।कार्यक्रम के तहत जमिल खानने विभिन्नप्रस्तुतियां जैसे राग कल्याण मेंबुल्ले शाहकी बंदीशतन मेंअल्लाह मनमें अल्लाह, सामुद्री राग (सिंधी माज) सहितमुरकियों केप्रयोग सेश्रोताओं कामन जीतलिया।बीच बीचमें शायरीके अंदाजऔर उसकेसरलीकरण नेभी श्रोताओंको भावविभोर करदिया।

प्रस्तुति के बीचबहुत सेसूफी संतोंको यादकिया गया।बीच मेंश्रोताओं नेअलगोजा वादनऔर मोरचंग-खड़ताल कीजुगलबंदी जैसेअवसरों सेभी गुजरनेका मौक़ामिला।श्रोताओं की पसंद पर राजस्थानीगायकी केमांगनियार अंदाज़ के रूप मेंनिम्बुडा-निम्बुडाएवं कानुडोनी जानेम्हारी प्रीतजैसे भजनभी सुनाये।सभागारमें लगभगतीन सौही श्रोताझूम उठे।श्रोताओ कोभारतीय संस्कृतिके करीबलाने केप्रयास हेतुविजन कॉलेजप्रतिवर्ष स्पिक मैके के इसप्रकार केआयोजन करवाताहै। कार्यक्रमका संचालनसोनिया साहूएवं अतिथियोंका सत्कारप्रो. रीना, प्रो. टीनाएवं प्रो. अन्तिमा नेकिया। अन्तमें आभारमाणिक  ने ज्ञापित किया। उपस्थित रसिकोंमें डॉसत्यनारायण व्यास,बी डी कुमावत, डॉ शरदगंगवार, अब्दुलज़ब्बार ,एसके शर्मा, रामेश्वर लाल पांड्या सहित  मिडिया केबहुत सेसाथी मौजूदथे।


संभागीय समन्वयक जेपी भटनागरके अनुसारस्कंध चित्तौड़ के तत्वावधान में सातऔर आठसितम्बर को मोहिनीअट्टमनृत्य कीचार प्रस्तुतियांहोगी। विक्रमसीमेंट, बिरला सीमेंटऔर आदित्यसीमेंट केसंयुक्तसहयोग से आयोज्य इन कार्यक्रमोंमें देशकी जानी मानीकोरियोग्राफर डॉ नीना प्रसाद अपनेचार सदस्यीय दल के साथ मोहिनीअट्टमनृत्य प्रस्तुत करेगी।अंगरेजी मेंस्नातकोत्तर नीना ने संगीत केक्षेत्र में ही शोध भी कियाहै। नीनाप्रसाद कथकलीऔर कुचिपुड़ी नृत्य में भी पारंगतहैं। देशभरके साथही कई प्रतिष्ठितसेमिनारों में डॉ नीना नेशोध पत्रपढ़े हैं।डॉ नीना प्रसादसात सितम्बरको  सुबह नौ बजे सेन्ट्रल अकादमी स्कूलऔर दिनमें बारहबजे आदित्यबिरला पब्लिक स्कूल आदित्यपुरम में नृत्यपेश करेगी।इसी तरहआठ सितम्बरको सुबहआठ बजेविक्रम नगर खोरस्थित आदित्य बिरलापब्लिक स्कूलमें औरदिन केबारह बजेबिरला शिक्षाकेंद्र माधवनगर में विद्यार्थियोंसे मुखातिबहोगी। येसभी आयोजनप्राचार्य समूह के अश्रलेश दशोरा,एस केगुप्ता , ए एसगंगवार औरजी एनमाथुर केनिर्देशन मेंसंपन्न होंगे।
  
डॉ   एल जैन

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

पेज