साहित्य संगम,अलवर की गतिविधियाँ फिर शुरू - Apni Maati: News Portal

Breaking

Home Top Ad

Post Top Ad

बुधवार, जून 13, 2012

साहित्य संगम,अलवर की गतिविधियाँ फिर शुरू


साहित्य संगम के नवनिर्वाचित अध्यक्ष प्रसिद्ध साहित्यकार डा0 शिबन  कृष्ण रैणा ने एक भेंट के दौरान कहा कि स्व0 भगीरथ र्भागव अपने कार्यकाल के दौरान ‘साहित्य संगम’ को जिन ऊंचाइयों तक ले गए थे,उन्हीं ऊंचाइयों को पुनः छूने का प्रयास नई कार्यसमिति करेगी।डा0 रैणा ने कहा कि साहित्य का उद्देष्य मनुष्य  को एक अच्छा इन्सान तथा समाज में सौहार्दपूर्ण वातावरण स्थापित करना होता है, इन्हीं उद्देष्यों की पूर्त्ति हेतु ’संगम’ कटिबद्ध रहेगा।साहित्यिक परिचर्चाएं,व्याख्यान मालाएं,बच्चों व किशोरों  में साहित्यिक अभिरुचि का विकास करना,दीर्घजीवी साहित्यकारों का सम्मान,कवि सम्मेलन आदि ‘संगम’ के मुख्य आकर्षण होंगे।डा0 रैणा ने यह भी बताया कि 4 जुलाई को स्व0 भगीरथ र्भागव की स्मृति में एक कवि गोष्ठी  का आयोजन किया जाएगा।

             उल्लेखलीय है कि ‘साहित्य संगम’ राजस्थान साहित्य अकादमी,उदयपुर से सम्बद्ध अलवर की अति महत्वपूर्ण एवं पुरानी साहित्यिक संस्था है जिसने विगत 40 सालों के दौरान अनेक उच्चकोटि के साहित्यिक कार्यक्रम आयोजित किए हैं। प्रो0 नामवरसिंह,विश्वनाथ त्रिपाठी, भीष्म साहनी,चित्रा मुद्गल,विष्वम्भरनाथ उपाध्याय,विजेन्द्र आदि देश के अनेक ख्यातिप्राप्त साहित्यकारों ने अपनी भागीदारी से ‘साहित्य संगम’ की गरिमा को बढ़ाया है।

समाचार स्त्रोत:-
डॉ.शिबेन  कृष्ण रैना
कोलेज शिक्षा में प्राचार्य पद से सेवानिवृत हुए हैं।सालों से राजस्थान में लिखते,पढ़ते और छपते रहे हैं।फिलहाल अलवर में साहित्यिक गतिविधियों को संभालती संस्था 'साहित्य संगम' के अध्यक्ष हैं।मूल रूचि और विषय हिंदी में ही निहित रहा है।
ई-मेल -skraina123@gmail.com
मो-09414216124

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

पेज